दादी जी ने ज्ञान की बातों को मंत्र की तरह जीवन में उतारा – ब्रह्माकुमारी मंजू दीदी

सादर प्रकाशनार्थ

प्रेस विज्ञप्ति
दादी जी ने ज्ञान की बातों को मंत्र की तरह जीवन में उतारा – ब्रह्माकुमारी मंजू दीदी
संसार की सबसे स्थितप्रज्ञ योगी ब्रह्माकुमारीज़ की पूर्व मुख्य प्रशासिका दादी जानकी जी की प्रथम पुण्यतिथि मनाई गई
संस्था द्वारा वैश्विक आध्यात्मिक जागृति दिवस के रूप में मनाया जा रहा यह दिन

बिलासपुर टिकरापारा :- ब्रह्माकुमारीज़ की पूर्व मुख्य प्रशासिका दादी जानकी जी का देहावसान गत वर्ष कोरोना काल के आरम्भ में 27 मार्च को हुआ था। संस्था द्वारा इस प्रथम पुण्यतिथि को वैश्विक आध्यात्मिक जागृति दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। आज गुरूवार के दिन टिकरापारा सेवाकेन्द्र में दादी जानकी जी के निमित्त परमात्मा को भोग स्वीकार कराया गया व सभी ब्रह्मावत्सों ने उनके चित्र के सम्मुख दृष्टि लेते हुए मौन श्रद्धांजलि अर्पित की व प्रसाद ग्रहण किया।
इस अवसर पर टिकरापारा सेवाकेन्द्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी मंजू दीदी जी ने कहा कि शतायु दादी जी केवल हमारी ही नहीं अपितु विश्व की दादी थीं। उन्होंने ईश्वरीय सेवाओं का देश-विदेश में बहुत विस्तार किया, भगवान का संदेश देने के लिए इतने उम्र में भी बहुत यात्राएं की। दादीजी की बहुत बड़ी विशेषता थी कि उन्होंने ज्ञान की बातों का ज्यादा विस्तार नहीं किया बल्कि सार रूप में अपने जीवन में आत्मसात किया। जैसे वह ज्ञान की बातें मंत्र की तरह हों जिसमें थोड़े में पूरा ज्ञान समाहित रहता है।
दीदी ने जानकारी दी कि दादी जी की स्मृति में मुख्यालय माउण्ट आबू में ‘शक्ति स्तम्भ’ बनाया गया है जिसका लोकार्पण 27 मार्च को किया जायेगा। पुण्यतिथि पर होने वाले कार्यक्रम को 27 मार्च प्रातः 8 बजे से अवेकनिंग टीवी व पीस ऑफ माइण्ड चैनल के माध्यम से लाइव देख सकते हैं।

प्रति,
माननीय भ्राता संपादक महोदय,
दैनिक…………………………………
बिलासपुर, छ.ग.